HEADLINES HINDUSTAN

Bharat Ki Baat

Download (2) (2)

Iodine Defic Disorders – IDD: राष्ट्रीय आयोडीन अल्पता विकार कार्यक्रम के अन्तर्गत World Iodine Deficiency Day आयोडीन दिवस पर गोष्ठी आयोजित: नोडल अधिकारी श्रीमती शिवांका गौड

सहारनपुर: दिनांक 21 अक्टूबर, 2022 (सू0वि0)। HEADLINES HINDUSTAN Bharat Ki Baat
राज्य मुख्यालय उत्तर प्रदेश लखनऊ के निर्देशानुसार राश्ट्रीय आयोडीन अल्पता विकार नियन्त्रण कार्यक्रम (NIDDCP) प्रदेश के चिन्हित 24 एंडेमिक जनपदों आगरा, अलीगढ, आजमगढ, बुलन्दशहर, बहराईच, बरेली, बस्ती, बिजनौर, देवरिया, अयोध्या, गाजियाबाद, गोण्डा, गोरखपुर, जौनपुर, लखीमपुर-खीरी, मथुरा, मुजफ्फरनगर, रायबरेली, वाराणसी, शाहजहांपुर, रामपुर, सहारनपुर एवं पीलीभींत में संचालित किया जा रहा है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 संजीव मांगलिक के नेतृत्व में ए0एन0एम0 टी0सी0 NNM TC सहारनपुर में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अन्तर्गत राष्ट्रीय आयोडीन अल्पता विकार कार्यक्रम Iodine Defic Disorders – IDD के अन्तर्गत आयोडीन दिवस के उपलक्ष्य में गोष्ठी का आयोजन किया गया। डा0 संजीव मांगलिक ने कार्यक्रम के उद्देश्य के बारे में बताया कि बच्चों, गर्भवती महिलाओं एवं अन्य व्यक्तियों को आयोडीन युक्त नमक का उपयोग, उसकी कमी से होने वाले दुष्परिणाम एंव आयोडीन की कमी दूर करने के उपाय के बारे में जागरूक करना है।

नोडल अधिकारी श्रीमती शिवांका गौड Nodal Officer द्वारा जानकारी दी गयी कि प्रदेश के 24 एंडेमिक जनपदों में आशाओं द्वारा नमक के नमूनों में आयोडीन की जांच करना निर्धारित किया गया हैं। आयोडीन एक आवश्यक पोषक तत्व है, जो हमारे शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य के लिये बहुत आवश्यक है। आयोडीन की कमी से घेंघा ही नही वरन बहरापन, गूंगापन, मानसिक विकृतियां तथा अपंगता जैसी व्याधियां भी होती है जिनका निदान सम्भव नही है। उपरोक्त विकृतियों के बचाव हेतु नमक का सार्वभोमिक आयोडीनकरण सर्वाधिक व्यवहारिक, प्रभावी एवं सस्ता उपाय है। सार्वभौमिक आयोडीनीकरण 1986 से कुछ क्षेत्रों में शुरू किया गया ।
भारत सरकार द्वारा 15 मई, 2006 से आयोडीन रहित नमक की बिक्री एवं भण्डारण पर रोक लगा दी गयी है। प्रत्येक आशा को प्रतिमाह एक साल्ट टेस्टिंग किट उपलब्ध कराई जायेगी, जिसके द्वारा 50 घरों के नमक के की गुणवत्ता का अनुश्रवण कियाय जा सके। उक्त जांचे सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर आंगनवाडी केन्द्र, स्कूल तथा घरों में उपयोग किये जाने वाले नमक में की जायेगी।
गोष्ठी में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 संजय यादव, डा0 सत्यप्रकाश एवं प्रशिक्षण ले रही समस्त ए0एन0एम0 छात्रायंे उपस्थित थी। HEADLINES HINDUSTAN Bharat Ki Baat